chest press एक्सरसाइज कैसे करे | chest press exercise

chest press exercise,chest press एक्सरसाइज कैसे करे,types of chest press exercise,चेस्ट प्रेस के प्रकार,चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज पूरी जानकारी, upper chest,middle chest,lower chest,inner chest,outer chest,अपर चेस्ट,मिडल चेस्ट,लोवर चेस्ट,इनर चेस्ट,आउटर चेस्ट,चेस्ट प्रेस कैसे करे,how to perform chest press,चेस्ट प्रेस क्यु जरुरी है,why chest press is necessary,चेस्ट प्रेस करते समय सावधानिया,mistakes while doing chest press,chest press exercise in hindi,chest press hindi,chest press in hindi,

१) चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज पूरी जानकारी

दोस्तों जैसा कि आपको पता है बॉडी बनाना कोई आसान बात नहीं होती लेकिन उसे हासिल करना कोई बड़ी बात नहीं होती है।
दोस्तों चेस्ट हमारा एक ऐसा बॉडी का पार्ट है जो सबसे पहले दिखाई देने वाला पार्ट होता है और बॉडी में सबसे अट्रैक्टिव पार्ट बी चेस्ट ही होता है जिसकी वजह से हमारी बॉडी अधिक खूबसूरत लगने लगती है ।

दोस्तों अगर आपको एक अच्छी चेस्ट बनाने हैं चौड़ी चेस्ट बनानी है तो आपको चेस्ट पर अच्छा ध्यान देना होगा मतलब कि आपको अच्छे मेहनत करनी पड़ेगी नहीं तो आप बाकी पार्ट पर अधिक मेहनत करोगे और चेस्ट का कम करोगे आपकी चेस्ट बाकी बॉडी पार्ट से बहुत ही बेडौल दिखेगी ।

आपको किसी भी फोर्स मे जाने के लिये आपकी पहले चेस्ट ही देखी जाती है । जब की आप समझ ही सकते हो कि चेस्ट का कितना महत्व होता है । चेस्ट का साइज कैसे बढ़ाये 
दोस्तों तो इसकी अधिक जानकारी के लिए हम आगे महत्वपूर्ण जानकारी जानने के लिए ध्यान से पढ़िए ।

२) चेस्ट प्रेस के प्रकार types of chest press

दोस्तो बहुत लोगों को पता नहीं होता कि चेस्ट के भी प्रकार होते हैं लेकिन वे जिम में जाकर सिर्फ एक ही बार बार एक्सरसाइज लगाते हैं बेंच प्रेस उस उसी को बार-बार करते अपनी चेस्ट को वो लॉक कर लेते हैं जिसकी वजह से उनकी चेस्ट कभी जल्दी से ग्रो नहीं कर पाते हैं ।
तो चेस्ट के कितने प्रकार होते हैं आइए जानते हैं | गेनर क्या है उसका इस्तेमाल | पेट की चर्बी जल्दी ख़त्म कैसे करे 

दोस्तों चेस्ट के पांच प्रकार होते हैं - 

chest press exercise,chest press एक्सरसाइज कैसे करे,types of chest press exercise,चेस्ट प्रेस के प्रकार,चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज पूरी जानकारी, upper chest,middle chest,lower chest,inner chest,outer chest,अपर चेस्ट,मिडल चेस्ट,लोवर चेस्ट,इनर चेस्ट,आउटर चेस्ट,चेस्ट प्रेस कैसे करे,how to perform chest press,चेस्ट प्रेस क्यु जरुरी है,why chest press is necessary,चेस्ट प्रेस करते समय सावधानिया,mistakes while doing chest press,chest press exercise in hindi,chest press hindi,chest press in hindi,


१. अप्पर चेस्ट  (upper chest)
२. मिडल चेस्ट  (middle chest)
३. लोवर चेस्ट  (lower chest)
४. इनर चेस्ट  (inner chest)
५. आउटर चेस्ट  (outer chest)

१. अपर चेस्ट upper chest :

chest press exercise,chest press एक्सरसाइज कैसे करे,types of chest press exercise,चेस्ट प्रेस के प्रकार,चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज पूरी जानकारी, upper chest,middle chest,lower chest,inner chest,outer chest,अपर चेस्ट,मिडल चेस्ट,लोवर चेस्ट,इनर चेस्ट,आउटर चेस्ट,चेस्ट प्रेस कैसे करे,how to perform chest press,चेस्ट प्रेस क्यु जरुरी है,why chest press is necessary,चेस्ट प्रेस करते समय सावधानिया,mistakes while doing chest press,chest press exercise in hindi,chest press hindi,chest press in hindi,

अप्पर चेस्ट का मतलब होता है चेस्ट का ऊपरी भाग मतलब चेस्ट का जो ऊपर वाला भाग होता है तो उसे अप्पर चेस्ट कहते हैं अप्पर चेस्ट चेस्ट का महत्वपूर्ण पार्ट बनता है जिससे कि हमारी चेस्ट ऊपर उठी हुई दिखती है उसकी वजह से हमारी चेस्ट में अधिक पंप दिखाई देता है और चेस्ट मोटी दिखती है ।

२. मिडल चेस्ट middle chest :

chest press exercise,chest press एक्सरसाइज कैसे करे,types of chest press exercise,चेस्ट प्रेस के प्रकार,चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज पूरी जानकारी, upper chest,middle chest,lower chest,inner chest,outer chest,अपर चेस्ट,मिडल चेस्ट,लोवर चेस्ट,इनर चेस्ट,आउटर चेस्ट,चेस्ट प्रेस कैसे करे,how to perform chest press,चेस्ट प्रेस क्यु जरुरी है,why chest press is necessary,चेस्ट प्रेस करते समय सावधानिया,mistakes while doing chest press,chest press exercise in hindi,chest press hindi,chest press in hindi,

मिडल चेस्ट का मतलब होता है अप्पर चेस्ट के निचले वाला भाग जैसे कि मान लो निपल्स के लाइन वाला भाग होता है यह भी हमारे चेस्ट का महत्वपूर्ण पार्ट होता है इसकी वजह से अप्पर चेस्ट को फुलाने में मदद होती हैं ।

३. लोवर चेस्ट lower chest :


chest press exercise,chest press एक्सरसाइज कैसे करे,types of chest press exercise,चेस्ट प्रेस के प्रकार,चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज पूरी जानकारी, upper chest,middle chest,lower chest,inner chest,outer chest,अपर चेस्ट,मिडल चेस्ट,लोवर चेस्ट,इनर चेस्ट,आउटर चेस्ट,चेस्ट प्रेस कैसे करे,how to perform chest press,चेस्ट प्रेस क्यु जरुरी है,why chest press is necessary,चेस्ट प्रेस करते समय सावधानिया,mistakes while doing chest press,chest press exercise in hindi,chest press hindi,chest press in hindi,


लोअर चेस्ट हमारी चेस्ट का निचला भाग होता है जहां पर चेस्ट का डिवाइड दिखता है जहां पर हमारी चेस्ट नीचे डिवाइड हुई दिखती है ।

४. इनर चेस्ट inner chest :


chest press exercise,chest press एक्सरसाइज कैसे करे,types of chest press exercise,चेस्ट प्रेस के प्रकार,चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज पूरी जानकारी, upper chest,middle chest,lower chest,inner chest,outer chest,अपर चेस्ट,मिडल चेस्ट,लोवर चेस्ट,इनर चेस्ट,आउटर चेस्ट,चेस्ट प्रेस कैसे करे,how to perform chest press,चेस्ट प्रेस क्यु जरुरी है,why chest press is necessary,चेस्ट प्रेस करते समय सावधानिया,mistakes while doing chest press,chest press exercise in hindi,chest press hindi,chest press in hindi,


इनर चेस्ट हमारी चेस्ट की बीच की लकीर होती हैं हमारी चेस्ट के बीच की लकीर जितनी अच्छी होगी उतनी हमारी चेस्ट ऊपर उठी हुई दिखती हैं और अट्रैक्टिव लगने लगते हैं इसीलिए यह हमारी चेस्ट का भी इंपोर्टेंट पार्ट होते हैं ।

५. आउटर चेस्ट outer chest :

chest press exercise,chest press एक्सरसाइज कैसे करे,types of chest press exercise,चेस्ट प्रेस के प्रकार,चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज पूरी जानकारी, upper chest,middle chest,lower chest,inner chest,outer chest,अपर चेस्ट,मिडल चेस्ट,लोवर चेस्ट,इनर चेस्ट,आउटर चेस्ट,चेस्ट प्रेस कैसे करे,how to perform chest press,चेस्ट प्रेस क्यु जरुरी है,why chest press is necessary,चेस्ट प्रेस करते समय सावधानिया,mistakes while doing chest press,chest press exercise in hindi,chest press hindi,chest press in hindi,

आउटर चेस्ट ये चेस्ट का साइड वाला भाग होता है, इसके वजह से गमरी चेस्ट में गोलई दिखाई देती है | 

३) चेस्ट प्रेस कैसे करे how to perform chest press :

दोस्तों चेस्ट प्रेस एक महत्वपूर्ण एक्सरसाइज है जो कि हम इसके वजह से हमारी चेस्ट को चाहे जैसा आकार दे सकते हैं तो आइए कुछ चेस्ट प्रेस की बारे में जानकारी लेते हैं की चेस्ट प्रेस कैसा करना है ।
१) पहले एक अच्छा सा बेंच सिलेक्ट कर लो उसके बाद में उस बेंच पर रोड में हमारे हिसाब से हम कितना वेट उठा सकते हैं उसी हिसाब से प्लेट्स लगा लो । incline बेंच प्रेस मिस्टेक्स 

२) बेंच पर लेट जाओ लेटने के बाद में राड को मजबूती से पकड़ कर अपनी चेस्ट के पास लाकर अपनी चेस्ट से 1 इंच ऊपर रोक दो उसके बाद में वापस फिर से ऊपर उठा दो ऐसे ही आपको 10 से 15 रिपिटीशन लगाने होंगे ।

३) ध्यान रहे यह एक्सरसाइज करते समय अपनी चेस्ट को ना देखें अपनी नजर रोड की तरफ ही रखे ।

४) इसमें हमारी पैरों की स्थिति बिल्कुल मजबूती से होनी चाहिए ।

५) पीठ उठी हुई नहीं चाहिए पीठ को अच्छी तरीके से बेंच से चिपका ले ।

बस इन्हीं गलतियों का आप ध्यान रखना चाहिए तभी आप एक अच्छी चेस्ट पा सकते हो ।

४) चेस्ट प्रेस क्यु जरुरी है why chest press is necessary :

आपने बहुत ऐसे लोगों को देखा होगा जो कि उनका बायसेप बाकी बॉडी पार्ट के हिसाब से बड़े होते हैं लेकिन उनकी चेस्ट कम होते हैं तो इनका कारण यही होता है कि वह चेस्ट की तरफ ध्यान नहीं देते तो आइए जानते हैं कि चेस्ट प्रेस करना क्यों जरूरी है । बैक साइज गेन और कटिंग एक्सरसाइजेज 

चेस्ट यह एक बॉडी का बड़ा मसल ग्रुप माना जाता है इसमें बल्कि एक मसल ना होकर तीन से चार मसल काम करते हैं तो इसके हिसाब से हमें वह तीन से चार मसल्स की एक्सरसाइज करके चेस्ट को एक्टिवेट करना पड़ता है तभी जाकर हमारी चेस्ट की मसल ग्रो करेंगी । इसीलिए चेस्ट बेंच प्रेस करना आवश्यक होता है ।

५) चेस्ट प्रेस करते समय सावधानिया mistakes while doing chest press :

१) जब आप चेस्ट प्रेस कर रहे हो एक्सरसाइज तो आपके साथ में आपका कोई साथीदार होना चाहिए नहीं तो आप चेस्ट प्रेस करते समय ज्यादा रिपीटेशन लगाते समय यदि आपका स्टेमिना टूट गया तो आपके हाथों से वार्बल नीचे गिरने की संभावना रह सकती हैं इसकी वजह से आपका साथी दार होना बहुत आवश्यक होता है ।

२) जिम करते समय हमारा साथी दार हमारा दोस्त होना चाहिए ना कि हमारा शत्रु ।

३) एक्सरसाइज करते समय आपकी पैरों की स्थिति बिल्कुल मजबूती से जमीन पर होना चाहिए ना कि उठा कर उसको बेंच पर रख दिया ऐसा नहीं होना चाहिए अगर आप बेंच पर पैर रखते हो तो यह बिल्कुल गलत है इससे आपकी मजबूती कम हो जाती हैं । 

४) एक्सरसाइज करते समय आप बैक में बिल्कुल भी ज्ञात नहीं होना चाहिए और आपकी चेस्ट ज्यादा भी ऊपर उठी नहीं होनी चाहिए आपकी पीठ बेंच से चिपकी होने चाहिए तभी आप पर्फेक्ट चेस्ट प्रेस कर सकते हैं।

५) चेस्ट प्रेस करते समय यहां वहां ना देखना चाहिए नाकी हमें आईने में देखना चाहिए इसके वजह से हमारा चेस्ट प्रेस करते समय मसल माइन कनेक्शन टूट जाता है । ऐसा करने से आपके हाथों से रोड गिरने की संभावना भी हो सकती हैं ।

६) ज्यादा वेट उठाने की कोशिश ना करें जितना हम वेट उठा सकते हैं उतना ही उठाएं ज्यादा वेट उठाने से आपकी मसल्स में इंजरी भी हो सकती हैं और एक बार इंजुरी होने के बाद में आप एक-दो हफ्ते के लिए आप की जिम बंद हो सकती है इसकी वजह से यह बातें टालने के लिए अच्छे से मसल माइंड कनेक्शन बनाकर एक्सरसाइज करें । शोल्डर साइज गेन और कटिंग एक्सरसाइजेज 

६) चेस्ट प्रेस गलतियां chest press mistakes :

लोग जिम में चेस्ट प्रेस करते समय मौत गलतियां करते हैं लेकिन उन खुद को पता नहीं होता कि हम गलतियां कर रहे हैं इसकी वजह से उनकी चेस्ट में अच्छी तरह से डेवलपमेंट नहीं हो पाती हैं और वह लोग अपने जिम या फिर खुद को दोषी ठहराते हैं ।

आइए जानते हैं चेस्ट प्रेस करते समय क्या-क्या गलतियां होती है ।

१) चेस्ट प्रेस करते समय अपने दोस्तों से बातें करना
२) चेस्ट प्रेस करते समय अपने आप को आईने में देखना
३) एक्सरसाइज करते समय अपने साथी दार को साथ में ना रखना
४) हमारी कैपेसिटी से ज्यादा वेट उठाना बिना सपोर्ट के
५) पैरों को उठाकर बेंच पर रखना फिर चेस्ट प्रेस लगाना
६) पीठ को ऊपर उठाएं चेस्ट प्रेस लगाना

तो दोस्तों आप समझ ही गए होंगे कि चेस्ट प्रेस एक्सरसाइज करते समय किन किन बातों का ख्याल रखना चाहिए तभी आपकी चेस्ट अच्छे से बढ़ पाएगी और इसके साथ में आप एक्सरसाइज करने के बाद अच्छा डाइट फॉलो करते हैं। बाइसेप्स कैसे बनाये 

 तो आपकी चेस्ट में रिकवरी ज्यादा फास्ट होगी और आपकी चेस्ट जल्दी ग्रो कर पाएगी ।

चेस्ट 1 बड़ा मसल ग्रुप है इसलिए उसको तीन से चार दिन रिकवरी होने में लग जाते हैं इसी हिसाब से आप अच्छा डाइट फॉलो करें और अपने मसल्स को जल्दी से जल्दी रिकवर करने की कोशिश करें ताकि आपकी चेस्ट बढ़ सकें।


chest press एक्सरसाइज कैसे करे | chest press exercise chest press एक्सरसाइज कैसे करे | chest press exercise Reviewed by Hindi Health Fitness on November 05, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.